प्राचार्य का संदेश...

वर्ष 2016-17 के शिक्षण सत्र के शुभारंभ अवसर पर आप सभी को मेरी हार्दिक शुभकामनाएं । महाविद्यालय के प्राचार्य के रूप में इस महाविद्यालय में प्रवेश पाने वाले समस्त छात्र-छात्राओं एवं उनके पालकों एवं अभिभावकों का हार्दिक अभिनंदन करता हूँ ।

15 अगस्त 1989 को राजनांदगांव जिले के गौरव ग्राम घुमका में महाविद्यालय की स्थापना की गई । स्थानीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के भवन से प्रारंभ हुआ शासकीय रानी अवंतीबाई लोधी महाविद्यालय, घुमका आज स्वयं के भवन में स्नातक स्तर पर कला, वाणिज्य एवं विज्ञान संकायों की शिक्षा प्रदान कर रहा है, इतना ही नहीं 500-600 छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने वाला यह महाविद्यालय स्ववित्तीय योजनांतर्गत एम.ए. हिंदी (सेमेस्टर पद्धति) में स्नातकोत्तर उपाधि की सुविधा दे रहा है ।

विगत शैक्षणिक सत्र में महाविद्यालय प्रबंधन ने छात्र-छात्राओं के सर्वागीण विकास एवं रोजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से अनेक सकारात्मक प्रयास किये है । व्यक्तित्व विकास पर विशेषज्ञों के व्याख्यान, यूथ-रेडक्रास, राष्ट्रीय सेवा योजना के अंतर्गत जन चेतना के कार्य एवं सांस्कृतिक, साहित्यिक प्रोत्साहन से विद्यार्थियों को लाभ मिल रहा है ।

महाविद्यालय को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से अनुदान प्राप्त होता है । महाविद्यालय में सुसज्जित कम्प्यूटर लैब, कैरियर कांउसिलिंग सेल, रिडिंग रूम, जिम की स्थापना विद्यार्थियों के कल्याणार्थ की गई है ।

विद्यार्थियों के सतत् मूल्यांकन हेतु टेस्ट परीक्षा एवं माॅडल टेस्ट परीक्षा आयोजित की जाती है । प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु कोचिंग कक्षाओं के माध्यम से उत्कृष्ट परिणाम देने में सफल हुए है । महाविद्यालय के अल्पसंख्यक, पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति तथा जनजाति, बी.पी.एल. के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति तथा शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है । खेलकूद के क्षेत्र में यहाँ के विद्यार्थियों ने अपनी नई पहचान बनाई है ।

महाविद्यालय के विकास यात्रा में जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्रीमती सरोजनी बंजारे, विधायक डोंगरगढ़ एवं समिति के समस्त सदस्यों के सकारात्मक एवं अपेक्षित सहयोग के लिए मैं उन सभी के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करता हूँ ।

डॉ. आई. आर. सोनवानीप्राचार्य9755818595